differences between blood and lymph

रूधिर (Blood) – रूधिर एक तरल संयोजी उत्तक होता है । इसमें एक तरल माध्यम होता है, जिसे प्लैज्मा कहते हैं ,इसमें कोशिकाएँ निलंबित होती है । रूधिर के द्वारा शरीर के भीतर एक स्थान से दूसरे स्थान तक पदार्थों का परिवहन होता है ।
शरीर में श्वसन गैसों (O2 एवं CO2 ) का परिवहन रूधिर की लाल रूधिर कोशिकाओं में मौजूद हीमोग्लोबिन द्वारा किया जाता है । शेष पदार्थों का परिवहन रूधिर प्लाज्मा द्वारा किया जाता है ।

लसिका (Lymph) – प्लाज्मा व WBC , रूधिर कोशिकाओं से छनन प्रक्रिया द्वारा अथवा उनको भेदकर उत्तक कोशिकाओं के बीच के स्थान में पहुँच जाते हैं । इस छनने की क्रिया द्वारा निर्मित द्रव को लिम्फ या लसिका कहते हैं ।
यह एक हल्के पीले रंग का होता है । जो लसीका-वाहिकाओं के भीतर बहता है । यह केवल एक ही दिशा में बहता है – उत्तकों से ह्रदय की ओर ।

रूधिर तथा लसिका में अन्तर (difference between Blood and Lymph) –

क्रं.सं. रूधिर लसिका
1. यह सामान्यतः लाल रंग का होता है । यह रंगविहीन होता है ।
2. यह लाल रक्त कणिकाओं (RBC) युक्त होता है । इसमें RBC का अभाव होता है ।
3. इसमें प्रोटीन की उच्च मात्रा उपस्थित होती है । इसमें प्रोटीन की मात्रा अपेक्षाकृत कम होती है ।
4. पचित भोजन की मात्रा अपेक्षाकृत कम होती है । पचित भोजन की मात्रा अपेक्षाकृत अधिक होती है ।
5. फाइब्रिनोजन अधिक होता है । फाइब्रिनोजन की मात्रा कम होती है ।
6. इसमें O2 अधिक होती है । इसमें O2 कम होती है ।
7. उपापचयी उत्सर्जी अन्तः उत्पाद कम होते हैं । उपापचयी उत्सर्जी अन्तः उत्पाद अधिक होते हैं ।
8. इसमें न्यूट्रोफिल्स की अधिकता होती है । इसमें लिम्फोसाइट्स की अधिकता होती है ।
9. यह तरल संयोजी उत्तक होता है । यह तरल छना हुआ रूधिर होता है ।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat
1
Hi, How can I help you?