Clarification All mcq Class 10 Science Chapter – 3 – Metals and Non-metals

1. निम्न में कौनसा युगल विस्थापन अभिक्रिया प्रदर्शित करता है ।
अ) NaCl विलयन एवं कॉपर धातु
ब) MgCl2 विलयन एवं ऐल्युमिनियम धातु
स) FeSO4 विलयन एवं कॉपर धातु
द) AgNO3 विलयन एवं कॉपर धातु
उत्तर – द) AgNO3 विलयन एवं कॉपर धातु
स्पष्टीकरण – सक्रियता श्रेणी से स्पष्ट है कि AgNO3 विलयन एवं कॉपर धातु (Cu) के युगल में Cu , Ag(सिल्वर) से अधिक क्रियाशील है अतः यह AgNO3 के विलयन से अभिक्रिया कर Ag को विस्थापित कर देती है और स्वयं नाइट्रेट यौगिक बना लेती है । अभिक्रिया निम्न प्रकार होती है –
2AgNO3 + Cu Cu(NO3)2 + 2Ag

2. लौहे के फ्राइंग पैन (frying pen) को जंग से बचाने के लिए निम्न में से कौनसी विधि उपयुक्त है –
अ) ग्रीज लगाकर
ब) पेंट लगाकर
स) जिंक की परत चढ़ाकर
द) उपरोक्त सभी
उत्तर – द) उपरोक्त सभी
स्पष्टीकरण – उपरोक्त सभी विधियाँ लौहे को ऑक्सीजन और जल से अभिक्रिया करने से रोकती है जिससे लौहे से बनी वस्तु अधिक समय तक सुरक्षित रहती है और उस पर जंग नहीं लगती है ।

3. कोई धातु ऑक्सीजन के साथ अभिक्रिया कर उच्च गलनांक वाला यौगिक निर्मित करती है । यह यौगिक जल में विलेय है । यह तत्व क्या हो सकता है –
अ) कैल्सियम
ब) कार्बन
स) सिलिकन
द) लोहा

उत्तर – अ) कैल्सियम

स्पष्टीकरण – कैल्सियम धातु ऑक्सीजन के साथ अभिक्रिया कर उच्च गलनांक वाला यौगिक बनाती है जो कि कैल्सियम ऑक्साइड (CaO) है । यह यौगिक जल में विलेय होता है । CaO को बिना बुझा हुआ चुना भी कहते है ।

4. खाद्य पदार्थ के डिब्बों पर जिंक की बजाय टिन का लेप होता है क्योंकि –
अ) टिन की अपेक्षा जिंक महँगा है ।
ब) टिन की अपेक्षा जिंक का गलनांक अधिक है ।
स) टिन की अपेक्षा जिंक अधिक अभिक्रियाशील है ।
द) टिन की अपेक्षा जिंक कम अभिक्रियाशील है ।
उत्तर – स) टिन की अपेक्षा जिंक अधिक अभिक्रियाशील है ।
स्पष्टीकरण – जिंक , टिंन की अपेक्षा अधिक अभिक्रियाशील होता है । यदि हम टिंन धातु का उपयोग खाद्य पदार्थ के डिब्बों पर लेप चढ़ाने में करते है तो टिंन कम क्रियाशील होने के कारण वायुमण्डलीय कारकों से बहुत कम क्रिया करता है जिससे लंबे समय तक खाद्य पदार्थों को डिब्बों में सुरक्षित रखा जा सकता है । यदि टिंन की बजाय जिंक का उपयोग किया जाए तो खाद्य पदार्थों को लंबे समय तक सुरक्षित नहीं रखा जा सकता है क्योंकि जिंक , टिंन से अधिक अभिक्रियाशील होता है ।

5. पीतल एक मिश्र धातु है –
अ) ताँबा + टिंन
ब) जिंक + टिंन
स) ताँबा + जिंक
द) ताँबा + ऐल्युमिनियम
उत्तर – स) ताँबा + जिंक
स्पष्टीकरण – पीतल एक मिश्रधातु है जो कि ताँबा + जिंक से बनी होती है । इसके अलावा काँसा मिश्रधातु , कॉपर + टिंन (Cu + Sn) की बनी होती है । तथा सोल्डर मिश्रधातु , सीसा + टिंन (Pb + Sn) की बनी होती है ।

6. सल्फाइड अयस्क का सांद्रण किया जाता है –
अ) झाग प्लवन विधि से
ब) गुरूत्वीय पृथक्करण विधि से
स) चुम्बकीय पृथक्करण विधि से
द) रासायनिक विधि से
उत्तर – अ) झाग प्लवन विधि से
स्पष्टीकरण – Chapter – 3 – Metals and Non-metals

7. अधातु जो कमरे के ताप पर द्रव होती है –
अ) मर्करी
ब) सल्फर
स) ब्रोमीन
द) कार्बन
उत्तर – स) ब्रोमीन
स्पष्टीकरण – ब्रोमीन (Br) एक ऐसी अधातु है जो कमरे के ताप पर द्रव होती है ।
जबकि मर्करी (Hg = पारा) एक ऐसी धातु है जो कमरे के ताप पर द्रव अवस्था में पायी जाती है ।

8. वह अधातु जो चमकीली होती है –
अ) सीजियम
ब) सल्फर
स) आयोडीन
द) फॉस्फोरस
उत्तर – स) आयोडीन (I)
स्पष्टीकरण – Chapter – 3 – Metals and Non-metals

9. विद्युत का सुचालक अधातु निम्न में से कौन है ।
अ) आयोडीन
ब) ग्रेफाइट
स) हीरा
द) सल्फर
उत्तर – ब) ग्रेफाइट
स्पष्टीकरण – ग्रेफाइट अणु षटकोणीय संरचना में व्यवस्थित होते है । ग्रेफाइट अणु में एक कार्बन परमाणु अन्य तीन कार्बन परमाणुओं से जुड़कर षट्कोणीय व्यूह(दृश्य) बनता है । यहाँ एक कार्बन परमाणु तीन अन्य कार्बन परमाणुओं से जुड़ा होता है जिसके कारण एक इलेक्ट्रोन मुक्त रहता है ,इसी मुक्त इलेक्ट्रोन के कारण ग्रेफाइट विद्युत का सुचालक होता है ।

10. आयनिक यौगिक निम्न में से किसमें घुलनशील होते है ।
अ) बेन्जीन
ब) पेट्रोल
स) जल
द) केरोसिन
उत्तर – स) जल
स्पष्टीकरण – “समान ,समान को घोलता है” सिद्धांत के अनुसार आयनिक जल में ही घुलेंगे क्योंकि आयनिक यौगिक ध्रुवीय होते है और जल भी ध्रुवीय प्रकृति का होता है ।

11. विद्युत धारों की वेल्डिंग के लिए प्रयुक्त मिश्रधातु है –
अ) काँसा
ब) पीतल(ब्रास)
स) सोल्डर
द) घटा धातु
उत्तर – स) सोल्डर
स्पष्टीकरण – Chapter – 3 – Metals and Non-metals

12. अतिशुद्ध सोना कितने कैरेट का होता है –
अ) 22
ब) 24
स) 14
द) 23
उत्तर – ब) 24
स्पष्टीकरण – अतिशुद्ध सोना 24 कैरेट का होता है ।

13. सोने के आभुषणों को बनाने में प्रयुक्त सोना कितने कैरेट का होता है ।
अ) 24
ब) 22
स) 12
द) 20
उत्तर – ब) 22
स्पष्टीकरण – सोने के आभुषणों को बनाने में प्रयुक्त सोना 22 कैरेट का होता है । इसके अलावा आभूषणों में अन्य धातुएँ जैसे प्लेटिनम, सिल्वर, निकल ,आयरन आदि धातुएँ भी मिलाई जाती है ताकि आभूषणों को कठोर बनाया जा सके ।

14. निम्न में से सिक्का धातु कौनसी है ।
अ) कॉपर
ब) चाँदी
स) सोना
द) उपरोक्त सभी
उत्तर – द) उपरोक्त सभी
स्पष्टीकरण – कॉपर(Cu) , चाँदी(Ag) , सोना (Au) आदि धातुओं को सिक्का धातुएँ कहते है क्योंकि इन धातुओं को उपयोग सिक्के बनाने में किया जाता है ।

15. ऐक्वारेजिया (अम्ल राज) बनाने में निम्न से किसे प्रयुक्त करते है –
अ) HNO3 + HCl
ब) HNO3 + NaCl
स) HNO3 + KCl
द) NaNO3 + HCl
उत्तर – अ) HNO3 + HCl
स्पष्टीकरण – जब हम HNO3 + HCl को 1:3 में मिलाते है तो ऐक्वारेजिया (अम्ल राज) का निर्माण होता है । इसका उपयोग सोने आदि के आभूषणों की सफाई करने अथवा उनको चमकदार बनाने में किया जाता है ।

Chapter - 3 Metals and Non-metals

Class 10th  NCERT Science Quiz question on Chapter – 3 – Metals and Non-metals in Chemistry 

Open chat
1
Hi, How can I help you?