Clarification All mcq Class 10 Science Chapter-2 Acids, Bases and Salts /अम्ल ,क्षारक एवं लवण

1. कोई विलयन लाल लिटमस पत्र को नीला कर देता है ,इसका PH संभवतः क्या होगा ?
अ) 1
ब) 4
स) 5
द) 10
उत्तर – द) 10
स्पष्टीकरण – अम्ल (PH < 7) (इनकी PH 7 से कम होती है ) नीले लिटमस पत्र को लाल कर देते है जबकि क्षार (PH > 7) (इनकी PH 7 से अधिक होती है ) लास लिटमस पत्र को नीला कर देते है । और जिन विलयनों की PH = 7 होती है उन्हें उदासीन विलयन कहते है ये किसी भी लिटमस को प्रभावित नहीं करते है ।

2. कोई विलयन अंडे के पिसे हुए कवच से अभिक्रिया कर एक गैस उत्पन्न करता है जो चूने के पानी को दूधिया कर देती है । इस विलयन में क्या होगा ?
अ) NaCl
ब) HCl
स) LiCl
द) KCl
उत्तर – ब) HCl
स्पष्टीकरण – HCl अम्ल पीसे हुए अंडे के कवच (जो कैल्सियम कार्बोनेट = CaCO3 का बना होता है ) से अभिक्रिया कर CO2 गैस उत्पन्न करता है । जिसकी अभिक्रिया निम्न होती है –
2HCl + CaCO3 CaCl2 + H2O + CO2
जब इस मुक्त CO2 को चूने के पानी Ca(OH)2 में प्रभावित करते है तो यह गैस चूने को पानी को दूधिया कर देती है । जिसमें निम्न अभिक्रिया होती है –
Ca(OH)2 + CO2  CaCO3 (श्वेत अवक्षेप) + H2O

3. NaOH का 10 mL , HCl के 8 mL विलयन से पूर्णतः उदासीन हो जाता है । यदि हम NaOH के उसी विलयन का 20 mL लें तो इसे उदासीन करने के लिए HCl के उसी विलयन की कितनी मात्रा की आवश्यकता होगी ?
अ) 4 mL
ब) 8 mL
स) 12 mL
द) 16 mL
उत्तर – द) 16 mL
स्पष्टीकरण – इस प्रकार की उदासीनकरण अभिक्रियाएँ जिनमें विलयनों की सांद्रताएँ समान रहती है और उदासीनीकरण अभिक्रिया में उपयोग आने वाले विलयनों की मात्राएँ ज्ञात करनी है तो इसकी लिए निम्न सूत्र होता है –

4. अपच का उपचार करने के लिए निम्न में से किस औषधि का उपयोग करते है –
अ) एंटिबायोटिक (प्रतिजैविक)
ब) ऐनालजेसिक (पीड़ाहारी)
स) ऐन्टेसिड
द) एंटिसेप्टिक(प्रतिरोधी)
उत्तर – स) ऐन्टेसिड
स्पष्टीकरण –  Chapter-2- Acids, Bases and Salts

5. हमारा उदर कौनसा अम्ल उत्पन्न करता है –
अ) H2SO4
ब) HNO3
स) NaOH
द) HCl
उत्तर – द) HCl
स्पष्टीकरण – Chapter-2- Acids, Bases and Salts

6. दाँत साफ करने के लिए प्रयुक्त टूथपेस्ट की प्रकृति किस प्रकार की होती है –
अ) क्षारीय
ब) अम्लीय
स) उदासीन
द) संक्षारकीय
उत्तर – अ) क्षारीय
स्पष्टीकरण – हमारे मुँह की PH औसतन 6 से 7 के बीच में रहती है अतः मुँख गुहा में अम्लीय माध्यम रहता है और इस बीच यदि दाँतों में भोजन के कण चिपक जाते है तो इस अम्लीय माध्यम में बैक्टिरिया उत्पन्न हो जाते है । इन बैक्टिरिया को उदासीन करने या नष्ट करने के लिए टूथपेस्ट की प्रकृति क्षारीय रखी जाती है ।

7. पीने के पानी को जीवाणुओं से मुक्त कराने के लिए निम्न में से किसका उपयोग किया जाता है –
अ) बेकिंग सोडा
ब) विरंजक चूर्ण
स) धोने का सोडा
द) उपरोक्त में से कोई नहीं
उत्तर – ब) विरंजक चूर्ण
स्पष्टीकरण – Chapter-2- Acids, Bases and Salts

8. आसुत जल की PH का मान कितना होता है –
अ) 9
ब) 7
स) 5
द) 3
उत्तर – ब) 7
स्पष्टीकरण – आसुत जल में H+ आयन और OH आयन की सांद्रता समान होती है अतः इसकी PH 7 होती है । अर्थात् यह आसुत जल उदासीन प्रकृति का होता है ।

9. हमारे रूधिर की प्रकृति होती है –
अ) अम्लीय
ब) क्षारीय
स) उदासीन
द) कुछ अम्लीय व कुछ क्षारीय
उत्तर – ब) क्षारीय
स्पष्टीकरण – Chapter-2- Acids, Bases and Salts

10. अधातुओं के ऑक्साइड की प्रकृति होती है ।
अ) क्षारीय
ब) अम्लीय
स) उदासीन
द) अक्रिय
उत्तर – ब) अम्लीय
स्पष्टीकरण – अधातुओं के ऑक्साइड की प्रकृति अम्लीय होती है क्योंकि ये नीले लिटमस पत्र को लाल कर देते है । जबकि धातुओं के ऑक्साइड की प्रकृति क्षारीय होती है क्योंकि ये लाल लिटमस पत्र को नीला कर देते है ।

11. सांद्र H2SO4 को जल में मिलाने पर –
अ) उष्मा अवशोषित होती है ।
ब) उष्मा उत्सर्जित होती है ।
स) कोई परिवर्तन नहीं आता है ।
द) विलयन गाढ़ा हो जाता है ।
उत्तर – ब) उष्मा उत्सर्जित होती है ।
स्पष्टीकरण – सांद्र अम्लों में अणुओं के मध्य हाइड्रोजन बंध पाया जाता है जिसके टूटने पर अत्यधिक मात्रा में ऊर्जा मुक्त होती है । अतः जब सांद्र H2SO4 में जल मिलाते है अथवा तनुकृत करते है तो हाइड्रोजन बंध के टूटने पर अत्यधिक मात्रा में ऊर्जा उत्सर्जित होती है ।

12. बेकिंग सोडा (सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट) को गर्म करने पर बना यौगिक है –
अ) NaNO3
ब) Na2CO3
स) NH4Cl
द) NaHCO3
उत्तर – ब) Na2CO3 (सोडियम कार्बोनेट)
स्पष्टीकरण – बेकिंग सोडा (NaHCO3 ) को गर्म करने पर या उष्मा देने पर निम्न अभिक्रिया होती है –
2NaHCO3 + गर्म  Na2CO3 + H2O + CO2

13. तनु सल्फ्युरिक अम्ल (H2SO4) की क्रिया निम्न में से किससे कराने पर हाइड्रोजन गैस निकलती है –
अ) Zn
ब) Mg
स) Fe
द) उपरोक्त सभी
उत्तर – द) उपरोक्त सभी
स्पष्टीकरण – Zn (जिंक) ,Mg(मैंगनिशियम) , Fe(आयरन) आदि तत्व H (हाइड्रोजन) से अधिक क्रियाशील होते है अतः ये तनु सल्फ्युरिक अम्ल (H2SO4) से अभिक्रिया कर उसमें से हाइड्रोजन को विस्थापित कर देते है और सल्फेट यौगिक बना लेते है । अभिक्रिया निम्न प्रकार होती है –
Zn + H2SO4 ZnSO4 + H2

14. चींटी के डंक से स्त्राव होने वाले अम्ल का नाम लिखिए –
अ) ऐथेनॉइक अम्ल
ब) मैथेनॉइक अम्ल
स) एल्कॉहल
द) मैलिक अम्ल
उत्तर – ब) मैथेनॉइक अम्ल (HCOOH)
स्पष्टीकरण – Chapter-2- Acids, Bases and Salts

15. जठर रस की PH लगभग कितनी होती है –
अ) 10.2
ब) 1.2
स) 4.2
द) 6.2

उत्तर – ब) 1.2 

स्पष्टीकरण –  Chapter-2- Acids, Bases and Salts

 

Chapter-2 Acids, Bases and Salts

10th class ncert/cbse science quiz on chemistry

Open chat
1
Hi, How can I help you?