Exocrine glands, बहिस्त्रावी ग्रंथियाँ

  • बहिस्त्रावी ग्रंथियाँ- ऐसे ग्रंथियाँ जिनके द्वारा स्त्रावित पदार्थ अथवा हार्मोन नलिकाओं के माध्यम से रूधिर में डाल दिए जाते हैं ,उन्हें  बहिस्त्रावी ग्रंथियाँ कहते है । अर्थात् ये नलिका युक्त ग्रंथियाँ होती है ।
क्रं.सं. ग्रंथि   स्थिति स्त्रावण
1 विष  उभयचर की त्वचा में विष
2 पेरोटिड ग्रंथि टोड में नेत्रों के पीछे विष
3 श्लेष्मा ग्रंथि उभयचर की त्वचा में श्लेष्मा
4 फीमोरल या गंध ग्रंथि नर सरीसृप की जंघा पर मैथुनी आकर्षण हेतु गंध युक्त पदार्थ का स्त्रावण
5 यूरोपाइजियल ग्रंथियाँ पक्षियों में यूरोपाइजियम पर तेलीय स्त्रावण
6 स्वेद ग्रंथियाँ स्तनियों में त्वचा में स्वेद स्त्रावण
7 सिबेसिस ग्रंथियाँ स्तनियों के रोम पुट्टक में सिबम स्त्रावण
8 स्तन ग्रंथियाँ स्तनधारी मादाओं में दुग्ध स्त्रावण
9 लेबियल ग्रंथियाँ स्तनधारियों के ओष्ठ पर तेलीय स्त्रावण
10 पेलेटाइन ग्रंथियाँ स्तनधारियों के तालु पर श्लेष्मा स्त्रावण
11 लार ग्रंथियाँ स्तनधारियों की मुख गुहा में लार स्त्रावण
12 सीरूमिनस ग्रंथियाँ बाह्य कर्णनाल में कान में मोम का स्त्रावण
13 लेक्रिमल ग्रंथियाँ स्तनधारियों की ऊपर पलकों में लवण युक्त अश्रुओं का स्त्रावण
14 माइबोमियन ग्रंथियाँ स्तनधारियों की ऊपरी व निचली पलकों की भीतरी सतह पर तेलीय स्त्रावण जो कॉर्निया व कंजेक्टिवा को घर्षण से सुरक्षा प्रदान करता है ।
15 हारडेरियन ग्रंथियाँ जलीय स्तनियों व चूहों के नेत्र गोलकों में तेलीय स्त्रावण जो निमेषक झिल्ली को चिकनाहट प्रदान करता है ।
16 सांप की विष ग्रंथियाँ विषैले सांपों की मुख गुहा में । यह लेबियल ग्रंथियों का रूपांतरण है । काटने पर विष स्त्रावण
17 कार्डियक व पाइलोरिक ग्रंथियाँ आमाशय के मध्य व पाइलोरिक भाग में स्थित श्लेष्मा स्त्रावण
18 फन्डिक ग्रंथियाँ आमाशय के मध्य भाग में HCl व एंजाइम का स्त्रावण
19 अग्नाशय ग्रहणी की दोनों भुजाओं के बीच अग्नाशय रस का स्त्रावण
20 क्रिप्टस ऑफ लिबरकन व ब्रुनर्स ग्रंथियाँ ग्रहणी व इलियम में सुकस एन्टरीकस का स्त्रावण
21 यकृत सबसे बड़ी ग्रंथि व डायफ्राम के नीचे स्थित पित्त का स्त्रावण
22 पेरीनियल ग्रंथियाँ पेरीनियल भाग में दुर्गन्ध युक्त पदार्थ का स्त्रावण
23 प्रोस्टेट ग्रंथि केवल नर स्तनधारी में 15-20 प्रतिशत वीर्य का निर्माण
24 टाइसन ग्रंथि शिश्न मुण्ड पर , केवल नर में गंध युक्त स्त्रावण को स्मिगमा कहते है ।
25 शुक्राशय नर स्तनधारी में 60 प्रतिशत वीर्य का निर्माण इसके स्त्राव द्वारा
26 यूट्रिक्यूलर ग्रंथि नर कॉकरोज के जनन तंत्र में शुक्राणुओं को पोषण प्रदान करना व शुक्राणुधर का स्त्रावण
27 काउपर ग्रंथि नर व मादा स्तनियों के मूत्रोजनन मार्ग में । मादा में इसे बार्थोंलिन ग्रंथि कहते है । इससे क्षारीय स्त्रावण होता है , इससे मूत्रोजनन मार्ग की अम्लीयता नष्ट होती है ।
28 मेहलिश ग्रंथियाँ फेरेटिमा हिपेटिका व टीनिया सोलियम के जनन तंत्र में पायी जाती है । निषेचित अण्डों के चारों ओर कवच(shell) का निर्माण
29 रक्त ग्रंथियाँ केचुएँ के 4th, 5th व 6th खण्ड में फेरिंजियल नेफ्रिडिया के साथ पायी जाती है । रक्त कणिकाओं व हिमोग्लोबिन का निर्माण
30 फेलिक ग्रंथि नर कॉकरोच में पायी जाती है । शुक्राणुधर(spermatophore) की बाहरी परत का स्त्रावण
31 पीतक ग्रंथि प्लैटीहैल्मीन्थीज के मादा जनन तंत्र में पीतक स्त्रावण
32 कैल्सीफेरस ग्रंथियाँ केंचुएँ के आमाशय में क्षारीय स्त्रावण जो ह्यूमिक अम्ल का उदासीनीकरण करता है ।
33 कोलेटेरियल ग्रंथियाँ मादा कॉकरोच के जनन तंत्र में ऊथिका का निर्माण
34 अन्नपुट ग्रंथियाँ (क्रॉप ग्रंथियाँ) कबूतर के अन्नपुट में दुग्ध का स्त्रावण
35 सिस्टोजिनस ग्रंथि फेरिटिमा हिपेटिका के सरकेरिया लार्वा में परिकोष्ठ(सिस्ट) का स्त्रावण
36  ग्रीन ग्रंथि क्रेस्टेशिया के श्रृंगिका के आधार पर उत्सर्जी अंग
37 मषि या स्याही ग्रंथियाँ सिफेलोपोडा(मोलस्का) के सदस्यों में सुरक्षा हेतु स्याही स्त्रावण
38 लसिका ग्रंथियाँ (लिम्फ ग्लेंड्स) केंचुएँ में 26 वें खण्ड के बाद आहारनाल पर लसिकाओं(लिम्फोसाइट्स) का निर्माण

3 thoughts on “Exocrine glands, बहिस्त्रावी ग्रंथियाँ

  • May 30, 2019 at 1:17 pm
    Permalink

    Very helpful! Is there anything more I should know next? Or is this enough?

  • July 10, 2019 at 2:56 am
    Permalink

    This opinion is a new look at an old problem. Thanks! I will be sharing this!

  • September 25, 2019 at 10:55 am
    Permalink

    Enjoyed reading through this, very good stuff, appreciate it.

Comments are closed.

Open chat
1
Hi, How can I help you?