अध्याय-2 अम्ल ,क्षार एवं लवण ,10th class ncert science part-3

⦁ PH स्केल-
किसी विलयन में उपस्थित हाइड्रोजन आयन (H+) की सांद्रता ज्ञात करने के लिए एक स्केल विकसित किया गया ,जिसे PH स्केल कहते है । PH मापक्रम प्रणाली की अवधारणा सबसे पहले सॉरेनसन नामक वैज्ञानिक ने प्रस्तुत की थी ।
इस स्केल की सहायता से शून्य से लेकर चौदह(14) तक की PH को ज्ञात कर सकते है । उदासीन विलयन की PH सदैव 7 होती है ।

⦁ कुछ पदार्थ की PH

⦁ कुछ अम्लों के प्राकृतिक स्रोत

⦁ क्लोर क्षार प्रक्रिया-
सोडियम क्लोराइड के जलीय विलयन में विद्युत प्रवाहित करने पर यह वियोजित होकर क्लोरीन व सोडियम हाइड्रॉक्साइड उत्पन्न करता है । इस प्रक्रिया को ही क्लोर क्षार प्रक्रिया कहते हैं ।

क्लोरीन गैस(Cl2) एनोड पर व हाइड्रोजन गैस(H2 ) कैथोड पर मुक्त होती है।
उपरोक्त प्रक्रिया से उत्पन्न उत्पाद के उपयोग निम्न हैं-

⦁ विरंजक चूर्ण का निर्माण-

उपयोग-
1. कपड़ो के विरंजन में
2. रासायनिक उद्योगों में अपचायक के रूप में
3. पीने वाले जल को जीवाणुओं से मुक्त करने के लिए(रोगाणुनाशक के रूप में)
⦁ क्रिस्टलन का जल-
लवण के एक सूत्र इकाई में जल के निश्चित अणुओं की संख्या को क्रिस्टलन का जल कहते हैं ।
1. जलीय कॉपर सल्फेट(CuSO4.5H2O) के एक सूत्र इकाई में जल के निश्चित अणुओं की संख्या 5 होती है
2. CuSO4.2H2O (जिप्सम)
⦁ प्लास्टर ऑफ पेरिस(P.O.P.)-
जिप्सम को 373K पर गर्म करने पर यह जल के अणुओं का त्याग कर कैल्सियम सल्फेट अर्धहाइड्रेट/हेमिहाइड्रेट (CuSO4.1/2H2O) बनाता है ,इसे ही P.O.P. कहते हैं ।
उपयोग-
1. टूटी हुई हड्डियों को सही जगह पर स्थिर करने में
2. मूर्ति निर्माण में , खिलौने निर्माण में
3. पुन: जिप्सम के निर्माण में

3 thoughts on “अध्याय-2 अम्ल ,क्षार एवं लवण ,10th class ncert science part-3

  • August 15, 2018 at 8:33 am
    Permalink

    Sir I want to purchase science notes in Hindi..

    • August 20, 2018 at 8:48 am
      Permalink

      when i will complete then i will provide notes

  • September 25, 2019 at 12:10 pm
    Permalink

    I haven’t checked in here for a while since I thought it was getting boring, but the last few posts are great quality so I guess I’ll add you back to my everyday bloglist. You deserve it my friend 🙂

Comments are closed.

Open chat
1
Hi, How can I help you?